धमतरी के श्री वेदमाता गौशाला में भूखी 200 से ज्यादा गायों की मौत, मौके पर मृत मिली 37 गायें

संचालक मनहरन साहू  गिरफ्तार
धमतरी :  तीन माह पूर्व गायों की सेवा का दावा कर गौशाला खाेलने वाले कोपरा के मनहरण साहू को गिरफ्तार कर लिया। कहा जा रहा है कि दाना-पानी नहीं होने की वजह से एक के बाद एक 200 से ज्यादा गायों ने दम तोड़ दिया है। रविवार को जांच के लिए पहुंचे अफसरों को मौके पर 37 गायें मृत मिलीं। मामला ग्राम पंचायत परसाबुड़ा का है।  यहां के आश्रित ग्राम राजाडेरा से लगभग 2 किमी दूर जंगल में निजी भूमि पर मनहरण साहू द्वारा गौशाला का संचालन किया जा रहा था। बताते हैं, वहां संचालक द्वारा न तो चारे की पर्याप्त व्यवस्था की गई थी और न ही पेयजल व छांव की। इसी वजह से गायों की मौत हुई। टकेश ध्रुव ग्राम पटेल राजाडेरा की रिपोर्ट पर शनिवार को कलेक्टर सहित अन्य आलाधिकारियों द्वारा मौके पर निरीक्षण कर पंचनामा पश्चात माैके पर ही मामला पंजीबद्ध करते हुए भादवि की धारा 429 तथा पशु क्रूरता निवारण अधिनियम की धारा 11 की उपधारा ड ज झ तथा धारा 151 के तहत गौशाला संचालक मनहरण साहू 32 वर्ष ग्राम कोपरा हाल मुकाम वेदमाता कामधेनु गोपालन केंद्र को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। ज्ञात हो कि ग्राम राजाडेरा के इस निजी भूमि पर अक्टूबर में मनहरण साहू द्वारा वेदमाता गायत्री कामधेनु गोपालन केंद्र की नींव रखी गई थी। उन्होंने विकासखंड के गांवों से गौशाला के लिए गाय भेजने का प्रचार-प्रसार किया। गौशाला संचालक पशुधन लाने वाले लोगों से सेवा शुल्क के रूप में प्रत्येक गाय के पीछे 650 रूपए फीस जमा करवाता था। विश्वास पर सेवा शुल्क सहित पशु मालिक अपने पशुधनों को गौशाला में भेजते रहे किंतु गौशाला संचालक ने गायों के लिए न तो चारा पानी की व्यवस्था की और न ही उचित देखरेख की। इसके चलते गायों की स्थिति धीरे-धीरे कमजोर होती चली गई। इस वजह से गायों की मौत का सिलसिला शुरु हो गया किंतु गौशाला संचालक द्वारा मृत गायों का न तो पोस्टमार्टम कराया गया और न ही उन्हें सम्मानजनक सद्गति दी गई। इस संबंध में  अखबारों में खबर छपते ही रविवार को प्रशासन हरकत में आया। मौके का निरीक्षण करने पर लगभग 37 गायें मृत मिलीं। मौके पर ही  अपराध पंजीबद्ध कर पंचनामा के पश्चात संचालक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। यहां कलेक्टर डा. सीआर प्रसन्ना, एसडीओपी कुरूद डीपी ठाकुर, एसडीएम प्रेमकुमार पटेल, तहसीलदार हीरा गर्वना, थाना प्रभारी नारायण ओटी उपस्थित थे।
error: Content is protected !!